ऊपरी सुबनसिरी के दर्शनीय स्थल,Upper Subansiri Sightseeing,

ऊपरी सुबनसिरी के दर्शनीय स्थल,Upper Subansiri Sightseeing,

हेलो दोस्तों स्वागत है आपका हमारे ब्लॉग के आप की नई पोस्ट में इसमें हम बात करने वाले हैं ऊपरी सुबनसिरी के प्रसिद्ध दर्शनीय स्थलों के बारे में, वैसे तो ऊपरी सुबनसिरी में घूमने लायक बहुत सी जगह है लेकिन आज हम केवल यहां के प्रसिद्ध जगहों के बारे में बात करने वाले हैं साथ ही इसी लेख में हम यहां का स्थानीय खान पान के बारे में भी बात करने वाले हैं   

ऊपरी सुबनसिरी के बारे में, About to upper Subansiri
 
Aalo tourist Places, Arunachal Daporijo, Image of Mouling National Park, Mouling National Park, 2020 Arunachal Pradesh, Daporijo Dibang Valley, Peki Mअरुणाचल प्रदेश की भाषाएँ, अरुणाचल प्रदेश की जनसंख्या, अरुणाचल प्रदेश का पहनावा, अरुणाचल प्रदेश मैप इन हिंदी, अरुणाचल प्रदेश का साहित्य, अरुणाचल प्रदेश के जिले, अरुणाचल प्रदेश का इतिहास, अरुणाचल प्रदेश के पर्यटन स्थल, अरुणाचल प्रदेश की संस्कृति, अरुणाचल प्रदेश की वेशभूषा, अरुणाचल प्रदेश प्रमुख जनजाति,

 

ऊपरी सुबनसिरी भारत के अरुणाचल प्रदेश का एक बहुत ही खूबसूरत जिला है जोकि चारों तरफ से पहाड़ से ढका हुआ है 7032 किलोमीटर के क्षेत्रफल में फैला ऊपरी सुबनसिरी पर्यटन दृष्टि से भी अरुणाचल प्रदेश का एक प्रसिद्ध पर्यटक स्थल है ऊपरी सुबनसिरी दिल्ली की स्थापना सन 1980 में की गई थी प्राकृतिक सुंदरता से परिपूर्ण या शहर पर्यटकों की जान क्या लाती है अरुणाचल प्रदेश में सफर करने वाले अधिकांश पर्यटक ऊपरी सुबनसिरी मैं यात्रा के लिए जरूर आते हैं यदि बात की जाए ऊपरी सुबनसिरी के मौसम की तो आपको बता दें की यहां का मौसम पूरे वर्ष भर सामान्य बना रहता है केवल मई और जून का महीना वर्ष का सबसे गर्म महीना रहता है जबकि दिसंबर और जनवरी के बीच मौसम काफी ठंडा बन जाता है इसीलिए पहाड़ों की यात्रा करने का सबसे अच्छा समय गर्मियों में माना जाता है अन्य जिलों की भांति इस जिले में भी कुछ परंपराएं हैं रीति रिवाज है जैसे कि अरुणाचल प्रदेश की रीति रिवाज है और रोजमर्रा की जिंदगी में लोग हिंदी भाषा का प्रयोग किया करते हैं लेकिन लोकल लैंग्वेज में यहां पर पहाड़ी बोली जाती हैं

अरुणाचल प्रदेश की वेशभूषा,Arunachal Pradesh Costumes,

ऊपरी सुबनसिरी की वेशभूषा पहनावा एक सामान्य रूप की हैं एक पहाड़ी राज्य होने के कारण यहां के लोग अपनी संस्कृति और रीति रिवाज के हिसाब से ही वस्त्र धारण किया करते हैं इसलिए यह एक अलग ही संस्कृति देखने को मिलती हैं अरुणाचल प्रदेश में महिलाएं और पुरुषों का पहना एक विशिष्ट प्रकार का है सामान्य दिनचर्या में वहां के लोग यहां के पुरुषों का पहनावा एक लूंगी और एक झबला नुमा वस्त्र होता है जो कि उसे वह कमर से ऊपरी भाग पर पहना करते हैं इसके अलावा यहां के लोग वर्ष के महोत्सव और उत्सव पर पूरे अपने वेशभूषा में आते हैं और इसी के साथ ही वहां अपने आकर्षण आभूषणों के साथ सजे धजे होते हैं जिससे वह पूरी तरह ऊपरी सुबनसिरी की निवासी लगते हैं

ऊपरी सुबनसिरी का खाना, Local food of Upper subansiri

जिस प्रकार से ऊपरी सुबनसिरी की संस्कृति और पहनाव खास है ठीक इसी प्रकार से यहां के खाने के व्यंजनों का स्वाद भी अपने आप में कम प्रसिद्ध नहीं है यहां पर जो भोजन का प्रयोग किया जाता है कुछ स्वदेशी और कुछ विदेशी होता है यहां के स्थानीय सामग्री का स्वाद ही कुछ अलग है यहां पर दिन की शुरुआत एक स्वादिष्ट खाने के साथ होती है जिसमें वह खोरा और पोचा का इस्तेमाल किया करते हैं चावल यहां की भोजनों के ब्यंजनो में मुख्य अंग है इसके बिना सभी व्यंजन अधूरे हैं और यहां के चावल भी काफी स्वादिष्ट होते हैं क्योंकि उन्हें एक अलग ही विधि द्वारा पकड़ा जाता है और खुल्लम संस्करण चावल बनाने का एक प्रचलित तरीका है दिन के खाने में यहां पर करी अंडा दाल तड़का और चावल के साथ साथ पीका पीला और थूपका खाना काफी स्वादिष्ट और प्रसिद्ध भी हैं रात्रि के भोजन में यहां पर रोटी सब्जी के अलावा वह वूंग वूत नगम, पिहक ,पाशा और नेक टॉक आदि व्यंजन सम्मिलित हैं 


ऊपरी सुबनसिरी के दर्शनीय स्थल,Upper Subansiri Sightseeing,
गेगू सेरिया झील – ऊपरी सुबनसिरी के प्रसिद्ध दर्शनीय स्थल मैं गेगू सेरिया झील का नाम सर्वश्रेष्ठ स्थान पर आता है दरअसल यह एक पहाड़ की चोटी पर बसा हुआ बहुत ही खूबसूरत झील हैं चारों तरफ आपको सदाबहार वृक्षों के साथ यहां पर आपको कई तरह के फूल देखने को मिल जाते हैं जिन लोगों को प्रकृति के साथ यात्रा करना पसंद होता है उनके लिए यह एक अच्छा गंतव्य है यदि आपको ट्रैकिंग का शौक भी है तो आपको बता दें कि यह जगह लिमकिंग काफी दूरी पर स्थित होने के कारण पर्यटकों को 4 दिन की ट्रैकिंग आवश्यक मानी जाती हैं आप चाहे तो अपनी इस खूबसूरत यात्रा का आनंद अपने दोस्तों के साथ ले सकते हैं 

अरुणाचल प्रदेश की भाषाएँ, अरुणाचल प्रदेश की जनसंख्या, अरुणाचल प्रदेश का पहनावा, अरुणाचल प्रदेश मैप इन हिंदी, अरुणाचल प्रदेश का साहित्य, अरुणाचल प्रदेश के जिले, अरुणाचल प्रदेश का इतिहास, अरुणाचल प्रदेश के पर्यटन स्थल, अरुणाचल प्रदेश की संस्कृति, अरुणाचल प्रदेश की वेशभूषा, अरुणाचल प्रदेश प्रमुख जनजाति,

मेंगा मंदिर – मेंगा गुफा मंदिर चित्र के प्रसिद्ध लोकप्रिय मंदिरों में से एक है जो कि भगवान शिव जी को समर्पित है मंदिर में प्रवेश का मार्ग काफी एडवेंचर माना जाता है क्योंकि यह 2 सुरंगों वाली एक चट्टानी गुफा हैं जिस के रास्ते बहुत ही सकरे है वैसे तो आमतौर पर इस मंदिर में पर्यटकों का आवागमन लगा रहता है लेकिन खासतौर पर शिवरात्रि के अवसर पर यहां पर अधिकांश लोग विजिट करते हैं इसका कारण है कि यह आसपास के क्षेत्र का प्रसिद्ध पर्यटक स्थल के रूप में भी जाना जाता है इसके चारों तरफ आपको खूबसूरत पहाड़ देखने को मिल जाते हैं

Aalo tourist Places, Arunachal Daporijo, Image of Mouling National Park, Mouling National Park, 2020 Arunachal Pradesh, Daporijo Dibang Valley, Peki Mअरुणाचल प्रदेश की भाषाएँ, अरुणाचल प्रदेश की जनसंख्या, अरुणाचल प्रदेश का पहनावा, अरुणाचल प्रदेश मैप इन हिंदी, अरुणाचल प्रदेश का साहित्य, अरुणाचल प्रदेश के जिले, अरुणाचल प्रदेश का इतिहास, अरुणाचल प्रदेश के पर्यटन स्थल, अरुणाचल प्रदेश की संस्कृति, अरुणाचल प्रदेश की वेशभूषा, अरुणाचल प्रदेश प्रमुख जनजाति,

टाकिसंग – यह उन जगह में से एक है जहां पर यात्रा करना ऊपरी सुबनसिरी आए हर एक पर्यटक का होता है यदि आपको बर्फ देखने का शौक है या आपको स्नो और स्नो स्पोर्ट्स मैं रूचि रखते हैं तो टाकिसंग आपके लिए एक अच्छा यात्रा विकल्प होने वाला है यहां आकर आप न केवल अपने स्नो देखने के शौक को पूरा कर सकते हैं बल्कि यदि आपको रिवर राफ्टिंग मछली पकड़ना और ट्रैकिंग जैसे साहसिक खेलों में रुचि रखते हैं तो आपको एक ना एक बार टाकिसंग मैं यात्रा करने का प्लान जरूर बनाना चाहिए परी प्राकृतिक सुंदरता से परिपूर्ण यह जगह पहाड़ में बसी चट्टानों की एक चोटी है

कमला आरक्षित वन – प्रकृति से प्रेम करने वाले व्यक्ति जहां भी जाते हैं वह सुकून देने वाली जगह को जरूर ढूंढते हैं और दोस्तों आज हम बात करने वाले हैं ऊपरी सुबनसिरी के प्रसिद्ध दर्शनीय स्थल कमला आरक्षित वन के बारे में, वैसे तो यह जगह आमतौर पर साहसिक खेल और ट्रेकिंग के लिए जानी जाती है लेकिन आप लोग इस आरक्षित वन में पधार कर न केवल इंजॉय कर सकते हैं बल्कि आपको दो पर यदि शांति से बैठ ना हो तो आप यहां आसानी से बिता सकते हैं पक्षियों की मधुर चेह चाहट की आवाज आपको उसको उनके पल बिताने में मदद करेगी, इसके अलावा यहां पर आपको विभिन्न प्रकार के वनस्पति पेड़ पौधे देखने को मिल जाते हैं जंगली जानवरों की दुर्लभ प्रजातियां यहां पर अपना डेरा डाले बैठी रहती हैं, 

अरुणाचल प्रदेश की भाषाएँ, अरुणाचल प्रदेश की जनसंख्या, अरुणाचल प्रदेश का पहनावा, अरुणाचल प्रदेश मैप इन हिंदी, अरुणाचल प्रदेश का साहित्य, अरुणाचल प्रदेश के जिले, अरुणाचल प्रदेश का इतिहास, अरुणाचल प्रदेश के पर्यटन स्थल, अरुणाचल प्रदेश की संस्कृति, अरुणाचल प्रदेश की वेशभूषा, अरुणाचल प्रदेश प्रमुख जनजाति,Aalo tourist Places, Arunachal Daporijo, Image of Mouling National Park, Mouling National Park, 2020 Arunachal Pradesh, Daporijo Dibang Valley, Peki M
ऊपरी सुबनसिरी में करने लायक चीजें, things to do in upper subansiri

दोस्तों ऊपरी सुबनसिरी की यात्रा के उपरांत आपके यहां के दार्शनिक स्थलों की सैर करने के बावजूद भी हम आपको कुछ ऐसे कीजिए बता रहे हैं जिन्हें अपनी यात्रा के दौरान कर सकते हैं और हो सकता है यह चीजें करने में भी काफी सस्ती और सरल भी हो

  1. बाइक सवार
  2. कैंपिंग
  3. क्लाइंबिंग
  4. एडवेंचर
  5. स्नो स्पोर्ट्स
  6. पैराग्लाइडिंग
  7. घुड़सवारी
  8. वोटिंग
ऊपरी सुबनसिरी में घूमने के लिए सबसे अच्छा समय, best time for travel to upper subansiri

दोस्तों अभी तक हम ऊपरी सुबनसिरी के बारे में जान चुके हैं और वहां के पर्यटक स्थल के बारे में भी जान चुके हैं अब हम यह भी देखेंगे कि यदि हम ऊपरी सुबनसिरी में घूमने के लिए जाते हैं तो वहां घूमने का सबसे अच्छा समय कौन-सा होगा , यात्रा का जो सबसे अच्छा समय माना जाता है वह होता है जब सभी लोगों की छुट्टियां होती है यानी कि यदि आप अपने दोस्तों के साथ आना चाहते हैं या परिवार के साथ तो छुट्टियां हो ना जरूरी है चाहे वह स्कूल से हो या नौकरी और बिजनेस से, छुट्टियां प्लान करने के बावजूद यदि बात की जाए सबसे अच्छे समय की तो ऊपरी सुबनसिरी में घूमने के लिए सबसे अच्छा समय माना जाता है सितंबर से फरवरी के बीच दोस्तों यह वह समय होता है जब यहां आपको ठंडा मौसम मिलेगा यदि आपको बर्फ देखनी है तो आप दिसंबर जनवरी में जाकर यात्रा कर सकते हैं और यदि आपको यहां के पर्यटक स्थलों का आनंद अच्छे मौसम में खुल कर लेना है तो आप यहां सितंबर के बाद कभी भी आ सकते हैं,

ऊपरी सुबनसिरी में रुकने के लिए होटल, Hotels in upper subansiri

दोस्तों यात्रा के दौरान आपको ऊपरी सुबनसिरी में कुछ दिन रुकना पड़ सकता है इसलिए हम आपकी सुविधा के लिए कुछ ऐसे होटल बता रहे हैं जो आपके बजट में हो सकते हैं और इन्हें आप ऑनलाइन भी बुक कर सकते हैं उनमें मैं आपको सभी प्रकार की सुविधाएं मिल जाएगी और इन होटलों में रहकर आप ऊपरी सुबनसिरी के स्थानीय खानपान का आनंद लेना बिल्कुल भी ना भूलें,

  1. मेल बॉटम टूरिस्ट लॉज
  2. सर्किट हाउस
  3. सिंधिक होटल
  4. होटल टोली
 

Leave a Comment

Chat For Book Trip