गाजीपुर में घूमने की जगह. Gajipur me ghumne ki jagah

दोस्तों आज के इस लेख के माध्यम से हम आपको भारत के प्रसिद्ध शहर गाजीपुर के दर्शनीय स्थल के बारे में जानकारी देने वाले हैं। जैसा कि आप सभी लोग जानते हैं कि छुट्टियां पढ़ते ही सभी लोग यात्रा के लिए अच्छी जगह की तलाश करना शुरू कर देते हैं। इसलिए हम आपको उत्तर प्रदेश के गाजीपुर शहर में ले कर जाने वाले हैं। जहां हम यात्रा( Gajipur Tourist Places) के साथ साथ गाजीपुर घूमने का सबसे अच्छा समय (Best Time to visit in Gajipur ) एवं गाजीपुर में रुकने के लिए होटल (Hotels In Gajipur ) के बारे में भी बात करेंगे। इसलिए इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ना।

गाजीपुर के बारे में. About to gazipur

गाजीपुर भारत के प्रसिद्ध राज्य उत्तर प्रदेश का एक शहर है। जो कि अपनी वस्तु एवं शिल्प कला के साथ-साथ सांस्कृतिक रीति-रिवाजों के तौर पर पूरे देश विदेश में मशहूर है। गंगा नदी के किनारे पर स्थित यह शहर 3377 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में फैला हुआ है। ग्रामीण आबादी के साथ-साथ इसमें शहरी आबादी 70 प्रतिशत से भी ज्यादा लोग निवास करते हैं। बताना चाहेंगे कि गाजीपुर पहले बनारस का हिस्सा हुआ करता था जिसे 1818 में अलग करके बनाया गया। प्राकृतिक सौंदर्य से परिपूर्ण गाजीपुर यहां के प्रसिद्ध धार्मिक एवं पर्यटन स्थलों के तौर पर काफी प्रसिद्ध है।

गाजीपुर का खान पान. local food of gazipur

स्वाद के शौकीन एवं घुमंतू लोगों के लिए गाजीपुर में खाने के लिए बहुत कुछ है। स्थानीय मसालों द्वारा बनाया गया स्वादिष्ट भोजन कहीं ना कहीं आप को अपनी ओर आकर्षित करने वाला है। वैसे तो गाजीपुर के खानपान में ( Gajipur ka khaanpaan )दिन के समय में दाल चावल एवं अन्य सब्जी परोसी जाती है। लेकिन इसे खास बनाती है यहां के लोगों का खाना बनाने का अंदाज । जोकि खाने को देख कर ही उसके साथ को अनुभव किया जा सकता है। दम पुख्त एक लखनवी व्यंजन बनाने की विधि है इसके माध्यम से मांसाहारी व्यंजन पकाए जाते हैं।

पान न केवल गाजीपुर का प्रसिद्ध है बल्कि पूरे उत्तर प्रदेश में पान एक पारंपरिक व्यंजन है। यदि आप लोग गाजीपुर की यात्रा करें तो आपको यहां के स्वादिष्ट पान का सेवन जरूर करना चाहिए। इसके साथ ही बने यहां की स्वादिष्ट बिरयानी जो कि इसे अन्य व्यंजनों से खास बनाती है मांस के मिश्रण से बना एक प्रसिद्ध जन-जन है जिसे आमतौर पर दिन एवं रात के समय उपयोग में लाया जाता है।

शाही पनीर और कबाब ऐसे व्यंजन है जो कि न केवल उत्तर प्रदेश में प्रसिद्ध है बल्कि पूरे भारत में इसे बड़े ही शौक एवं स्वाद के साथ खाया जाता है|

गाजीपुर का चाट और लस्सी बहुत प्रसिद्ध है। यहां गर्मियों के समय में लस्सी ठंडक पहुंचाने का कार्य करती है वहीं सर्दियों में चार्ट शरीर में गर्मी उत्पन्न करती है जिसे कि यहां के लोग बड़े ही शौक से खाया करते हैं।

गाजीपुर में घूमने की जगह. gazipur me ghumne ki jagah

  1. संकट मोचन मंदिर गाजीपुर
  2. खुरपी पार्क गाजीपुर
  3. मां कामाख्या देवी मंदिर गाजीपुर
  4. दादरी घाट गाजीपुर
  5. बाबा अमरनाथ मंदिर गाजीपुर
  6. नवाब का पुराना किला गाजीपुर

संकट मोचन मंदिर गाजीपुर – गाजीपुर के प्रसिद्ध पर्यटन एवं पवित्र स्थलों( Gajipur paryatan isthal ) में संकट मोचन मंदिर का नाम सर्वश्रेष्ठ स्थान पर आता है. दादरी घाट के पास स्थिति यह प्रसिद्ध मंदिर भगवान श्री हनुमान जी को समर्पित है। भगवान हनुमान जी के साथ यहां पर मंदिर के गर्भ गृह में भगवान विष्णु जी की प्रतिमा भी स्थापित है। खूबसूरत वास्तु कला से परिपूर्ण यह मंदिर सालाना हजारों पर्यटकों को अपनी और आकर्षित करती है। मंत्रमुग्ध कर देने वाली इसकी आसपास की खूबसूरती पर्यटकों को अपनी ओर खींचती है। आप चाहे तो यहां अपने दोस्तों के साथ भी आ सकते हैं। गाजीपुर में परिवार के साथ यात्रा करने के लिए( Family travel in gajipur ) यह एक अच्छी जगह है।

खुरपी पार्क गाजीपुर – दोस्तों गाजीपुर में घूमने के लिए बहुत कुछ है उन सभी खूबसूरत जगह में से एक है खुरपी पार्क। प्राकृतिक सौंदर्य से परिपूर्ण यह पार्क एक चिड़िया घर जैसा लगता है यहां पर विभिन्न प्रकार के पशु पक्षियों देखने को मिल जाती है। यदि आप लोग प्रकृति प्रेमी के साथ साथ पशु पक्षी प्रेमी है तो अपनी यात्रा का कुछ समय निकालकर आप खुरपी पार के दर्शन भी कर सकते हैं। गाजीपुर में परिवार के साथ घूमने के लिए यह एक अच्छी जगह है जहां आप फोटोग्राफी के साथ-साथ प्रकृति खूबसूरती का आनंद ले सकते हैं। पार्क की एंट्री फीस मात्र ₹20 है इसलिए आप इस जगह के दर्शन जरूर करें।

मां कामाख्या देवी मंदिर गाजीपुर – गाजीपुर के प्रसिद्ध मंदिरों में मां कामाख्या देवी मंदिर का नाम सबसे पहले स्थान पर आता है ‌ आकर्षक वास्तु कला से परिपूर्ण यह मंदिर गाजीपुर के प्राचीन मंदिरों की श्रेणी में भी आता है। किवदंती है कि यह मंदिर हजारों साल पुराना है। मंदिर में कामाख्या देवी की बहुत ही सुंदर प्रतिमा स्थापित की गई है। आस्था और भक्ति का प्रतीक मंदिर के बारे में बताया जाता है कि जो भी बस इस मंदिर में सच्चे मन से प्रार्थना करते हैं उनकी मनोकामना जरूर कौन होती है।

दादरी घाट गाजीपुर – जिस तरह से यह नाम खूबसूरत सा लगता है ठीक उसी तरह से उसी तरह दादरी घाट भी गाजीपुर के पर्यटन स्थलों में से एक है। पवित्र नदी गंगा के किनारे पर स्थित यह घाट बहुत ही लोकप्रिय एवं खूबसूरत स्थान हैं। यदि आप लोग नदी के किनारे बैठकर पानी की लहरों को देखने का आनंद लेना चाहते हैं तो गाजीपुर की यात्रा में आपको दादरी घाट के दर्शन जरूर करने चाहिए। सूर्य अस्त एवं सूर्य उदय के शानदार दृश्यों के साथ आप यहां पर फोटोग्राफिक का आनंद भी ले सकते हैं। इसी के पास में भगवान राधा कृष्ण का मंदिर भी स्थित है। आप चाहे तो अपनी यात्रा के कुछ पल निकालकर मंदिर के दर्शन भी कर सकते हैं।

बाबा अमरनाथ मंदिर गाजीपुर – जगह का नाम भले ही सुनने में हो लेकिन यह जगह आपको खूबसूरत लगने वाली है। भगवान शिव जी को समर्पित यह मंदिर आस्था और भक्ति का प्रसिद्ध केंद्र माना जाता है। मंदिर के गर्भ गृह में भगवान शिव जी का शिवलिंग विराजमान है। जिस के इतिहास के बारे में बताया जाता है कि यह शिवलिंग स्वयंभू स्थापित है। वैसे तो यहां पर हर दिन पर्यटक आया करते हैं लेकिन खासतौर पर शिवरात्रि के दिन हजारों की संख्या में यहां पर भक्तजन आया करते हैं। आप चाहे तो अपनी गाजीपुर यात्रा की श्रेणी में बाबा अमरनाथ मंदिर को भी शामिल कर सकते हैं ‌।

नवाब का पुराना किला गाजीपुर – गाजीपुर के ऐतिहासिक स्थलों में नवाब का किला एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थल बना हुआ है जोकि स्थानीय लोगों द्वारा बुर्जी के नाम से भी जाना जाता है । किले के साथ नवाब का कुश्ती क्षेत्र और एक तालाब स्थित है। आप चाहे तो अपनी यात्रा के कुछ समय निकालकर नवाब का पुराना किला के दर्शन कर सकते है । विभिन्न प्रकार के ऐतिहासिक वस्तुओं को देखने के साथ-साथ किल्ले की आकर्षक वास्तुकला के बारे में भी जाना जा सकता है।

गाजीपुर घूमने का समय. gazipur ghumne ka samay

दोस्तों यदि बात की जाए गाजीपुर में घूमने के सबसे अच्छे समय के बारे में। तो बताना चाहेंगे कि वैसे तो आप अपनी यात्रा का प्लान अपने छुट्टियों के अनुसार बना सकते हैं लेकिन यदि आप गर्मियों की छुट्टियों का आनंद लेने गाजीपुर की यात्रा का प्लान बना रहे हैं तो हम आपको बताना चाहेंगे कि गाजीपुर की यात्रा का सबसे अच्छा समय अगस्त माह से अप्रैल माह तक माना जाता है। इस बीच शहर का तापमान सामान्य बना रहता है इसलिए जो भी यात्री यहां यात्रा करने जाते हैं वह अपनी यात्रा का अच्छे से आनंद ले पाते हैं। क्योंकि तापमान सामान्य बने रहने से आप एक स्थान से दूसरे स्थान तक आराम से प्रवेश कर सकते हैं और गाजीपुर के प्रसिद्ध स्थलों का भ्रमण भी पूरे आंनदमय के साथ कर सकते हैं।

गाजीपुर में रुकने की व्यवस्था. gazipur me rukhne ki jagah

दोस्तों यदि आप लोग भी गाजीपुर की यात्रा पर है और आप यहां रुकने के बारे में प्लान बना रहे हैं। तो हम आपको कुछ ऐसे होटल के बारे में जानकारी दे रहे हैं जो किससे होने के साथ-साथ सभी मूलभूत सुविधाओं से परिपूर्ण हैं। और सबसे अच्छी बात यह भी है कि इन्हें आप ऑनलाइन भी बुक कर सकते हैं।

  • रास रिजॉर्ट
  • साहेब बरी रिजॉर्ट
  • ड्रीम स्क्वायर रिजॉर्ट
  • ग्रांड प्लाजा होटल

गाजीपुर कैसे पहुंचे. gazipur kese pahuchen

चलिए दोस्तों अब जान लेते हैं कि आखिर हम किस तरह से गाजीपुर पहुंच सकते हैं और गाजीपुर की यात्रा का आनंद ले सकते हैं। गाजीपुर पहुंचने के लिए हमारे पास सड़क मार्ग के साथ-साथ रेल एवं वायु मार्ग के विकल्प भी शामिल है चलिए एक-एक करके सब के बारे में जानते हैं।

सड़क मार्ग से गाजीपुर कैसे पहुंचे

गाजीपुर उत्तर प्रदेश का एक प्रसिद्ध शहर होने के कारण सड़क मार्ग से अच्छी तरह जुड़ा हुआ है। इसलिए सड़क मार्ग के माध्यम से गाजीपुर आसानी से पहुंचा जा सकता है आप अपने नजदीकी शहर या अपने गांव का सदस्य भी आसानी से सड़क मार्ग के माध्यम से गाजीपुर पहुंच सकते हैं।

रेल मार्ग के माध्यम से गाजीपुर कैसे पहुंचे

गाजीपुर रेल मार्ग के माध्यम से भी पहुंचा जा सकता है। गाजीपुर का निकटतम रेलवे स्टेशन गाजीपुर ही है जोकि भारत के प्रमुख शहरों नई दिल्ली एवं मुंबई के साथ-साथ कोलकाता और लखनऊ के साथ अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। आप चाहे तो अपनी यात्रा रेल मार्ग के माध्यम से भी कर सकते हैं ।

वायु मार्ग के माध्यम से गाजीपुर कैसे पहुंचे

गाजीपुर पहुंचने के लिए हवाई मार्ग का मार्ग भी शामिल है। गाजीपुर का निकटतम एयरपोर्ट वाराणसी है जो कि देश के प्रसिद्ध शहरों से अच्छी तरह जुड़ा हुआ है। आप चाहे तो अपनी यात्रा को फ्लाइट के माध्यम से भी कर सकते हैं।

Leave a Comment

Chat For Book Trip